We are always available to address the needs of our users.
+91-9606800800

angels-office-1

कौन से दलालों को चुनना है?

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट कौन से दलालों को चुनना है? पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप कौन से दलालों को चुनना है? होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

एक हाउस वाइफ ने शेयर बाजार में मचाया 'तहलका', घर बैठे की 700 करोड़ की कमाई

Linkedin

बाजार की तेजी के हर दौर में नए निवेशक का उदय दलाल स्ट्रीट पर होता है. जो बाजार का नया सरताज बनना चाहता है और यह नया निवेशक नए मल्टिबैगर शेयर ढूंढ़कर निकालता रहता है. शेयर बाजार में अक्सर मुनाफा कमाने के चक्कर में कुछ लोग अपना पैसा गंवा बैठते हैं. लेकिन, चेन्नई की रहने वाली एक हाउस वाइफ ने घर बैठे-बैठे की ही 700 करोड़ रुपए की कमाई कर डाली.

गलत उम्मीद से दुःख होता है

वीज़ा ना लगने से बन्दे का आत्मविश्वास (confidence) काम होने लगता है , यह देख कर कि उसके दोस्तों का वीज़ा आ गया मगर उसका खुद का नहीं लगा | उसे लगने लगता है कि उसमें कोई कमी है , जबकि असली कमी तो उस एजेंट में थी जिसने उसे गलत सलाह दी | वीज़ा लगने के लिए सही कोर्स में आवेदन (apply) करना चाहिए | एक प्रमाणित (certified) एजेंट सच कौन से दलालों को चुनना है? बता देता है , अगर उसे लगे कि वीज़ा नहीं लगेगा , बजाये इसके कि बच्चे को गलत उम्मीद देकर पैसे ठगे | वीज़ा ना लगने से कुछ लोग इतने ज़्यादा उदास हो जाते है , कि एक प्रमाणित एजेंट के पास जाने से भी कतराने लगता है , मनोबल खोने के कारण , कि क्या फायदा जब वीज़ा लगना ही नहीं | निराश मत हो , सारे एजेंट एक जैसे नहीं होते , अच्छे वाला एजेंट आपका फायदा ही करवाएगा |

फ़ालतू में समय बर्बाद होता है

एक बार वीज़ा ना लगने के कारण एक व्यक्ति को फिर से नया एजेंट ढूंढना पढता है , कई बार ऐसे लोगों को 5-6 बार वीज़ा के लिए नामंजूरी (rejection) मिलती है जिसके चलते वह 10-12 लाख तक खो बैठते हैं , कुछ लोग तो कर्ज़ा तक ले बैठते हैं | मैंने कुछ ऐसे IELTS Centre भी देखे हैं जिनके पास जब बच्चे पूछताछ करने आते हैं तो उस IELTS Centre वाले को पता होता है कि उनका वीज़ा नहीं लगेगा , फिर भी IELTS की तैयारी करवाते हैं | याद रखिये , IELTS होने से आपका वीज़ा लगना आसान हो जाता है मगर कुछ देशों में यह ज़रूरी नहीं होता | आप IELTS की घर बैठ कर तैयारी कर सकते हैं और अच्छे बैंड भी ला सकते हैं |

तकलीफें झेलनी पढ़ती हैं

कभी भी किसी अप्रमाणित (unregistered) एजेंट के पास मत जाओ , वह आपका केवल नुकसान करेगा | कुछ लोग ऐसे कहेंगे कि बस थोड़े से रुपये दो , आपको वीज़ा मिल जायेगा | वह चीनी (Chinese) माल की तरह अपने धंधे को दिखाते हैं , कि सस्ता है इसलिए ले लो | मगर असलियत कुछ और ही होती है | मैं ऐसे लोग भी जानता हूँ जो विदेश जाना चाहते थे पढ़ाई के लिए , उन्हें किसी एजेंट ने नौकरी का झांसा दिया , उनसे पैसे ले लिए , और वह भोले -भले लोग घर बैठ गए | इससे अच्छा रहता कि वह अध्ययन (study) के लिए चले जाते , जिसमें विदेश जाना आसान है |

पाव भाजी | घर पर पाव भाजी बनाने की विधि | मुंबई स्टाइल पाव भाजी घर पर बनाएं | Pav Bhaji

पाव भाजी | घर पर पाव भाजी बनाने की विधि | मुंबई स्टाइल पाव भाजी घर पर बनाएं | pav bhaji in hindi | with 25 amazing images.

अपने घर का बना पाव भाजी बनाम गली से पाव भाजी चुनने के अलावा और कुछ भी स्वस्थ नहीं है। जबकि मुझे मुंबई रोडसाइड पाव भाजी पसंद है, फिर भी मुझे लगता है कि आपको अपनी पाव भाजी घर पर बनानी चाहिए।

इस होममेड पाव भाजी रेसिपी में, हमने सबसे पहले पाव भाजी में जाने वाली सब्जियों (फूलगोभी, हरी मटर और गाजर) को प्रेशर कुक किया है। फिर एक अलग गहरे नॉन स्टिक पैन में मिर्च लहसुन का पेस्ट, प्याज, शिमला मिर्च और टमाटर भूनें। कश्मीरी लाल मिर्च, पाव भाजी मसाला डालें और थोड़े से पानी के साथ पकाएँ। अंत में हम आलू और प्रेशर पकी हुई सब्जियां डालते हैं और घर पर बनी मुंबई पाव भाजी पकाते हैं।

आज आपने क्या सीखा?

दोस्तों, हमें उम्मीद है कि हमारा ये (Nita Ambani biography in Hindi) आर्टिकल आपको काफी पसंद आया होगा और आपके लिए काफी हेल्पफुल भी होगा क्युकी इसमें हमने आपको नीता अंबानी के जीवन के बारे में पूरी जानकारी दी है.

हमारी ये (Nita Ambani biography in Hindi) जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और ज्यादा से ज्यादा लोगो के साथ भी जरुर शेयर कीजियेगा.

रेटिंग: 4.37
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 807