अब आप समझ ही गए होने की मोबाइल रिचार्ज करके हम कैसे पैसे कमा सकते है। अगर आपको या पोस्ट अच्छी लगी तो अपने दोस्तो के साथ शेयर जरूर करना क्या पता उनको भी यह पोस्ट पसंद आए। और अगर कुछ भी इस पोस्ट में कमी रह गई हो तो नीचे कमेंट जरुर करना हम उस बारे में अपने पोस्ट में जरूर ऐड करेंगे।

छेड़छाड़ ओएमआर शीट की सूची में TMC पार्षद का नाम, राजनीतिक घमासान शुरू !

छेड़छाड़ ओएमआर शीट की सूची में TMC पार्षद का नाम, राजनीतिक घमासान शुरू !

पश्चिम बंगाल न्यूज डेस्क . पश्चिम बंगाल स्कूल सेवा आयोग (डब्ल्यूबीएसएससी) द्वारा प्रकाशित 952 ऑप्टिकल मार्क रिकग्निशन (ओएमआर) शीट की सूची में तृणमूल कांग्रेस के एक पार्षद का नाम आने के बाद शनिवार को पश्चिम बंगाल में राजनीतिक घमासान शुरू हो गया, जिनमें कथित रूप से सरकारी स्कूलों में अयोग्य उम्मीदवारों को शिक्षक के रूप में समायोजित करने के लिए छेड़छाड़ की गई थी। डब्ल्यूबीएसएससी द्वारा कलकत्ता उच्च न्यायालय के निर्देश के अनुसार पूरी सूची प्रकाशित करने के बाद, यह पाया गया कि सूची में एक नाम दक्षिण 24 परगना जिले में राजपुर-सोनारपुर नगरपालिका के वार्ड नंबर 18 से तृणमूल पार्षद कुहेली घोष का है। घोष सोनारपुर चौहाटी हाई स्कूल में इतिहास की एक माध्यमिक शिक्षिका भी हैं, जो उस वार्ड के अंतर्गत आती है जहां वह पार्षद हैं। डब्ल्यूबीएसएससी द्वारा प्रकाशित 952 छेड़छाड़ की गई डटफ शीट की सूची में उनका नाम 474वें स्थान पर है।

छेड़छाड़ ओएमआर शीट की सूची में TMC पार्षद का नाम, राजनीतिक घमासान शुरू !

छेड़छाड़ ओएमआर शीट की सूची में TMC पार्षद का नाम, राजनीतिक घमासान शुरू !

पश्चिम बंगाल न्यूज डेस्क . पश्चिम बंगाल स्कूल सेवा आयोग (डब्ल्यूबीएसएससी) द्वारा प्रकाशित 952 ऑप्टिकल मार्क रिकग्निशन (ओएमआर) शीट की सूची में तृणमूल कांग्रेस के एक पार्षद का नाम आने के बाद शनिवार को पश्चिम बंगाल में राजनीतिक घमासान शुरू हो गया, जिनमें कथित रूप से सरकारी स्कूलों में अयोग्य उम्मीदवारों को शिक्षक के रूप में समायोजित करने के लिए छेड़छाड़ की गई थी। डब्ल्यूबीएसएससी द्वारा कलकत्ता उच्च न्यायालय के निर्देश के अनुसार पूरी सूची प्रकाशित करने के बाद, यह पाया गया कि सूची में एक नाम दक्षिण 24 परगना जिले में राजपुर-सोनारपुर नगरपालिका के वार्ड नंबर 18 से तृणमूल पार्षद कुहेली घोष का है। घोष सोनारपुर चौहाटी हाई स्कूल में इतिहास की एक माध्यमिक शिक्षिका भी हैं, जो उस वार्ड के अंतर्गत आती है जहां वह पार्षद हैं। डब्ल्यूबीएसएससी द्वारा प्रकाशित 952 छेड़छाड़ की गई डटफ शीट की सूची में उनका नाम 474वें स्थान पर है।

मोबाइल रिचार्ज करके कैसे पैसे कमाए?

जैसा कि आपने पढ़ा की हम मोबाइल रिचार्ज करके भी पैसा कमा सकते है। अगर आप किसी दूसरे लोगो का और अपना या अपने फैमिली में किसी का मोबाइल रिचार्ज करते हो तो अब आप पैसे कमा सकते है।

• इसके लिए आपको बस जिस भी सिम कार्ड का रिचार्ज करना है।
• उसी सिम कार्ड का एंड्रॉयड ऐप आपने डाउनलोड करना है।
• अब आप उस एप को ओपन करे।
• ऐप को ओपन करने के बाद आपके सामने बोहोत सारे ऑप्शन दिखाई देंगे।
• उन ऑप्शन में से आपको अगर किसी दूसरे का रिचार्ज करना है।
• तो आपको रिचार्ज टू ऑदर वाला ऑप्शन सेलेक्ट करना है।
• अब आपको जिस सिम कार्ड पैसे कमाने वाला ऐप्स में आपको रिचार्ज करना है। वह सिम कंपनी को सेलेक्ट करना है।
• और इस सिम कार्ड का नंबर डालना है।
• अब कितने रुपए का रिचार्ज करना है। वह आपको डालना है।
• अब आपके सामने पेमेंट ऑप्शन आ जायेंगे।
• अब आपको पेमेंट करना है।
• जैसे की आपका पेमेंट सफलतापूर्वक हो जाता है। तो आपका जितना की कमीशन बनता है। वह उस ऐप के वॉलेट में जमा हो जायेगा।

कैशबैक के जरिए।

अगर आपको कैशबैक के जरिए रिचार्ज करके पैसे कमाने है। तो आपको यह जानना हो गा की मार्केट में यैसे कोनसे ऐप्स है। पैसे कमाने वाला ऐप्स जो हर एक रिचार्ज पर ज्यादा कैशबैक दे देते है। वैसे तो आपको पेटीएम में भी कैशबैक देखने को मिलेगा और अमेजन पे में भी अच्छा खासा कैशबैक देखने को मिलता है। और लगभग सारे डिजिटल पेमेंट ऐप्स में आपको कैशबैक देखने को मिलता है।

• यैसे में आप जो भी ऐप यूज करते हो उस ऐप को ओपन करे।
• और मोबाइल रिचार्ज वाले ऑप्शन पर चले जाय।
• अपना जिस भी कंपनी का सिम है। वह सेलेक्ट करे।
• अपना मोबाइल नम्बर डाले।
• और रिचार्ज प्लान सेलेक्ट करें।
• अब आपको कैशबैक ऑफर दिखाई देंगे।
• अब आप उस रिचार्ज का पेमेंट करे। जैसे ही आप इस रिचार्ज का पेमेंट करते हो। वैसे की आपका जो भी कैशबैक बनता है। वह आपके ऐप के वॉलेट में जमा जो जायेगा।

खुद एक्स्ट्रा चार्ज करके

अगर आपको कैशबैक और रिचार्ज कमीशन बोहोत ही कम लगता है। तो आप जिस किसी कभी रिचार्ज करते हो तो आप इनसे बोल सकते हो की मैं रिचार्ज तो आपका कर दूंगा पर मुझे इस रिचार्ज कर 20 रुपए या जो भी आपको कमीशन चाहिए वह आप उनसे अलग से ले सकते हो। अगर वह मानते है। तो ठीक है। नही तो आप उनका रिचार्ज यैसे भी कर सकते है। या फिर अगर वह ज्यादा पैसे देने के लिए राजी नहीं होते है। तो आप उनका मोबाइल रिचार्ज मत करना।

नोट :- पर ध्यान दे अगर वह इंसान अगर किसी प्रोब्लम में पैसे कमाने वाला ऐप्स है। तो आप इस इंसान का रिचार्ज कर देना बिना किसी ज्यादा चार्ज के शायद इससे उस इंसान की कोई मदद हो जाए।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

1. मोबाइल रिचार्ज पर कितना कमीशन कंपनी देती है।

ज्यादातर सिम कार्ड कंपनिया 2 से 3% का ही कमीशन कंपनिया हमे देती है। मोबाइल रिचार्ज पर हमे ज्यादा कमीशन देखने को नहीं मिलता है।

2. क्या हम रिचार्ज कमीशन और कैशबैक एक साथ ले सकते है।

नहीं यैसा नही है। जो में रिचार्ज कमीशन बनता है। वह कमीशन हमे सिम कार्ड कंपनी दे देती है। और कैशबैक हमे जो भी पेमेंट ऐप का इस्तेमाल करते है। वह हमे कैशबैक दे देते है। तो कैशबैक के लिए हमे वही ऐप का इस्तेमाल करना पड़ेगा। जो ऐप हमे कैशबैक दे देता हो। तो इसका मतलब यह है। की दोनो हमे एक साथ नहीं मिलेंगे।

3. लोगो से ज्यादा पैसे लेना सही है।

वैसे सही तो नही है। पर अगर आप 10 से 20 रुपए लेते हो तो ठीक है। पर वही बात हुई ना की हम ज्यादा पैसे तो लेते ही है। यह आप पे डिपेंड करता है। आप चाहे तो मत लो

सबसे ज्यादा पढ़े गए

झारखंड में कुशासन का आतंक है: BJP नेता Deepak Prakash ने साधा हेमंत सरकार पर निशाना

झारखंड में कुशासन का आतंक है: BJP नेता Deepak Prakash ने साधा हेमंत सरकार पर निशाना

UP में फिर बढ़ने लगा CORONA! आगरा के बाद अब उन्नाव का युवक पाया गया Covid Positive

UP में फिर बढ़ने लगा CORONA! आगरा के बाद अब उन्नाव का युवक पाया गया Covid Positive

आपसी विवाद में पति ने खोया आपा: पत्नी की पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट, गिरफ्तार

आपसी विवाद में पति ने खोया आपा: पत्नी की पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट, गिरफ्तार

रेटिंग: 4.28
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 81